नई दिल्ली | विश्व स्वास्थ्य संगठन कोविड-19 महामारी के लिए जिम्मेदार वायरस सार्स-सीओवी-2 के स्रोत की जांच करने के लिए आखिरकार अगले सप्ताह एक टीम को चीन भेज रहा है। डब्ल्यूएचओ के महानिदेशक ट्रेडोस घेब्रेयेसियस ने 29 जून को एक मीडिया ब्रीफिंग में कहा था, “डब्ल्यूएचओ कहता आ रहा है कि वायरस के स्रोत को जानना बहुत महत्वपूर्ण है। यह सार्वजनिक स्वास्थ्य का मामला है। जब हम वायरस के बारे में सब कुछ जानेंगे तभी उससे बेहतर तरीके से लड़ सकेंगे।”

उन्होंने आगे कहा, “हम इसके लिए चीन में अगले सप्ताह एक टीम भेजेंगे। हमें उम्मीद है कि यह समझ पाएंगे कि यह वायरस कैसे शुरू हुआ और भविष्य की तैयारी के लिए हम क्या कर सकते हैं।

इसलिए हम अगले सप्ताह वहां एक टीम भेजने की योजना बना रहे हैं।”

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प और विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ पहले ही कह चुके हैं कि यह वायरस चीन की एक प्रयोगशाला में उत्पन्न हुआ है।

वहीं चीन ने इन आरोपों से इनकार कर दिया था।

जॉन्स हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी के आंकड़ों के अनुसार, अब तक दुनिया भर में 1.1 करोड़ से ज्यादा लोग इस बीमारी से संक्रमित हुए हैं और 5,25,000 से अधिक लोगों की मौत हुई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here