सर्वश्रेष्ठ कोच के द्रोणाचार्य पुरस्कार से सम्मानित भूपेंद्र धवन ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राज्यों के मुख्यमंत्रियों से सभी जिम समुदाय, जिम मालिकों, जिम संचालकों, जिम ट्रेनर्स और जिम को अपनी रोजी-रोटी बनाने वाले नौजवानों की तरफ से अपील की है कि जिम उद्योग को शीघ्र ही पुन: खोलने की अनुमति दी जाए।

द्रोणाचार्य अवार्डी धवन ने यह अपील करते हुए कहा कि मैं जिम समुदाय, जिम मालिकों, जिम संचालकों, जिम ट्रेनर्स और जिम को अपनी रोजी-रोटी बनाने वाले नौजवानों, जिम में जाकर स्वास्थ्य लाभ करने वाले नौजवानों और देश के नागरिकों, जिम उद्योग के लिए सामान बनाने वाली कंपनियों, उनके कर्मचारियों, श्रमिकों की ओर से करबद्ध अपील करता हूं कि रोजगारी की टूटती श्रृंखला से अवसादग्रस्त हो रहे नौजवानों को मजबूरी में गलत कदम न उठाने पड़ें इसके लिए जिम उद्योग को जल्दी ही फिर से खोलने की अनुमति दी जाए।

धवन ने मार्मिक अपील करते हुए कहा कि लंबे समय से रोजगार और भुखमरी की समस्या से जुड़े ये सभी लोग जिम न खोल पाने के कारण कब क्या कदम उठा लें, कुछ नहीं कहा जा सकता, पर सहज अनुमान लगाया जा सकता है। हताशा और निराशा से पैदा होता अवसाद कोई भी कदम उठाने को मजबूर कर सकता है। अधिकतर की संख्या ऐसी है जो जिम को अपना सभी कुछ समर्पित कर चुके हैं तथा सक्षम न होने के कारण अन्य किसी व्यवसाय को करने की नहीं सोच पा रहे हैं। यदि ऐसा होता तो वे ऐसा कर चुके होते और यह अपील करने के लिए बाध्य न होते।

जिम संचालक पहले से ही कोरोना से सुरक्षा के लिए सभी उपाय और सरकार के दिशा-निर्देश अपनाने को तैयार हैं और हों भी क्यों न, उन्हें स्वयं अपनी और अपने जिमों में आने वालों की चिंता है। समय रहते जिम को खोले जाने के आदेश जारी किया जाना बहुत ही जरूरी है। बेरोजगारी से जूझते भारत में रोजगारी की यह श्रृंखला टूट गई तो बेरोजगारी की श्रृंखला बढ़ जाएगी जिसे संभालना मुश्किल हो सकता है। अवसाद में डूब चुका नौजवान किसी गलत दिशा में दिग्भ्रमित हो सकता है जिसे वापिस लाना मुश्किल होगा। इस समस्या पर गंभीरता से विचार किया जाये और इससे पहले कि जिम से जुड़े लोग कोई गलत कदम उठाए, संपूर्ण भारत में स्वास्थ्य के मंदिर इन जिमों को आगामी एक अगस्त से दोबारा खोलने की अनुमति दी जाए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here