नई दिल्‍ली – भारत के दिग्‍गज विकेटकीपर- बल्‍लेबाज एमएस धोनी [MS Dhoni] को क्रिकेट के मैदान से दूर हुए करीब एक साल हो गए हैं. उनके भविष्‍य को लेकर कई तरह की अटकलें लगाई जा रही हैं. हालांकि माना जा रहा था कि आईपीएल के जरिए धोनी की मैदान पर वापसी होती और इसी से टी20 वर्ल्‍ड कप के लिए टीम इंडिया में उनकी वापसी का दरवाजा खुलता. मगर कोरोना वायरस [Coronavirus] के कारण आईपीएल को अनिश्चिकालीन समय के लिए टाल दिया गया है. जिससे एक बार फिर अटकलों का बाजार गर्म हो गया है.

जहां एक तरफ धोनी के संन्‍यास पर अटकलें तेज हो रही है, वहीं दूसरी तरफ पूर्व भारतीय तेज गेंदबाज ने वेंकटेश प्रसाद [Venkatesh Prasad] ने धोनी के इस्‍तेमाल का तरीका बताया.

वेंकटेश प्रसाद ने टाइम्‍स ऑफ इंडिया से बातचीत में कहा कि अगर धोनी बल्‍लेबाजी करने के लिए ऊपर आते हैं तो भारत को अधिक फायदा हो सकता है.

बल्‍लेबाजी के लिए नंबर 3 या चार
उन्‍होंने कहा कि वह धोनी को फिनिशर के रूप में ट्रीट करने की बजाय ऊपर के क्रम पर खेलने के लिए कहेंगे. वें धोनी को नंबर 3 या 4 पर बल्‍लेबाजी के लिए कहेंगे. पूर्व गेंदबाज ने कहा कि अगर खेल में सिर्फ दस ओवर के करीब बचते हैं, तब वह धोनी से एक फिनिशर के रूप में खेलने के लिए कहेंगे. उन्‍होंने कहा कि नहीं भूलना चाहिए कि धोनी के पास अनुभव है और वह इनपुट्स है, जो वो देंगे और जो बेहद अहम हैं. धोनी के पास नंबर 3 और 4 पर भी बल्‍लेबाजी करने का अनुभव है. उन्‍होंने 46 संयुक्‍त पारियों में 82.75 की औसत से 2 हजार 351 रन बनाए.धोनी की वापसी मुश्किल
भारत की तरफ से 33 टेस्‍ट और 161 वनडे मैच खेलने वाले वेंकटेश प्रसाद का साथ ही मानना है कि टीम इंडिया में धोनी की वापसी मुश्किल है. टीम में उनकी वापसी का एक जरिया आईपीएल था, मगर आने वाले समय में उनके आयोजन की संभावना भी न के बराबर ही नजर आ रही है. वहीं सीमित ओवर में केएल राहुल विकेटकीपिंग में अच्‍छा प्रदर्शन कर रहे हैं. उन्‍होंने कहा कि इसके कोई शक नहीं है कि धोनी अभी भी फिट है, मगर जब आपकी उम्र बढ़ती है तो आपकी फुर्ती में कमी आती है. वह अभी 40 के करीब होने वाले है. प्रसाद ने कहा कि धोनी के बारे में कोई भी फैसला लेने की जिम्‍मेदारी वह टीम मैनेजमेंट पर छोड़ते हैं अगर धोनी फिटनेस दिखाते हैं तो यह देखना होगा कि टीम मैनेजमेंट किस तरह से उन्‍हें लेकर अपनी रणनीति तैयार करता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here