पिछले दिनों रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने कंपनी के कर्ज मुक्त होने का ऐलान किया था.

नई दिल्लीः मुकेश अंबानी की कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (RIL)  150  अरब डॉलर की कंपनी बन गई. रिलायंस 150 अरब डॉलर यानी लगभग 11,43,667 करोड़ रुपये के मार्केट

[Mukesh Ambani’s company Reliance Industries Limited (RIL) became a $ 150 billion company. Reliance market of $ 150 billion i.e. around Rs 11,43,667 crore]

कैपिटलाइजेशन वाली पहली भारतीय कंपनी बन गई. सोमवार को शेयर बाजार में कारोबार की शुरुआत के वक्त कंपनी का मार्केट कैपिटलाइजेशन 28,248.97 करोड़ रुपये बढ़ कर 11,43,667 करोड़ रुपये हो गया था.

[Became the first Indian company to capitalize. The market capitalization of the company had increased by Rs 28,248.97 crore to Rs 11,43,667 crore at the start of trading in the stock market on Monday.]

शुक्रवार को रिलायंस इंडस्ट्रीज 11 लाख करोड़ की बाजार पूंजी वाली कंपनी बन गई. इसके पहले रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने कंपनी के कर्ज मुक्त होने का ऐलान किया था. उन्होंने कहा था कि हमने कंपनी को कर्ज मुक्त करने के लिए मार्च, 2021 का लक्ष्य रखा था, लेकिन वक्त से बहुत पहले ही कंपनी कर्ज मुक्त हो गई. रिलायंस के कर्ज मुक्त होने के ऐलान के बाद इसके शेयर छह फीसदी तक चढ़ गए.

[On Friday, Reliance Industries became a company with a market capital of 11 lakh crore. Earlier, Reliance Industries chairman Mukesh Ambani had announced the company’s debt-free. He had said that we had set a target of March 2021 to make the company debt-free, but the company became debt-free long ago. After Reliance’s debt-free announcement, its shares rose by six percent.]

जियो फ्लेटफॉर्म में विदेशी निवेशक के निवेश से मिली मजबूती 

रिलायंस के जियो प्लेटफॉर्म्स में अब तक लगातार दस निवेशकों ने निवेश किया. सबसे नया निवेशक सऊदी अरब का पब्लिक इनवेस्टमेंट फंड (PIF) है. इसने इसकी 2.32 फीसदी हिस्सेदारी 11,367 करोड़ रुपये में खरीदी है. लगातार नौवें सप्ताह में जियो प्लेटफॉर्म्स में यह दसवीं हिस्सेदारी है. जियो प्लेटफॉर्म अब तक अपनी 24.70 फीसदी हिस्सेदारी बेच कर 1.6 लाख करोड़ रुपये जुटा चुका है.

[Ten consecutive investors have invested in Reliance’s Jio platforms so far. The newest investor is the Public Investment Fund (PIF) of Saudi Arabia. It has bought its 2.32 per cent stake for Rs 11,367 crore. This is the tenth stake in Jio Platforms for the ninth consecutive week. Jio platform has so far raised Rs 1.6 lakh crore by selling its 24.70 per cent stake.]

PIF ने जियो प्लेटफॉर्म्स में 11,367 करोड़ रुपये के निवेश की घोषणा की और इस निवेश के तहत ये जियो प्लेटफॉर्म्स की 2.32 फीसदी हिस्सेदारी ले पाएगी.

[PIF announced an investment of Rs 11,367 crore in Jio Platforms and under this investment it will be able to take a 2.32 per cent stake in Jio Platforms.]

इससे पहले रिलायंस जियो ने लगातार 10 बड़ी डील के जरिए कई साझेदारी की है और इसमें सबसे बड़ा नाम फेसबुक का है. 22 अप्रैल को फेसबुक के 9.99 फीसदी हिस्सेदारी खरीदने के एलान के बाद सिल्वर लेक, विस्टा इक्विटी, जनरल अटलांटिक, केकेआर, मुबाडला और अबू धाबी इन्वेस्टमेंट अथॉरिटी, टीपीजी और एल कैटरटन ने जियो में निवेश करने का एलान किया था. इससे रिलायंस इंडस्ट्रीज को काफी मजबूती मिली है.

[Prior to this, Reliance Jio has made many partnerships through 10 big deals in a row and the biggest name in this is Facebook. On April 22, after the announcement of Facebook’s 9.99 per cent stake purchase, Silver Lake, Vista Equity, General Atlantic, KKR, Mubadla and Abu Dhabi Investment Authority, TPG and L Catterton announced an investment in Jio. This has given a lot of strength to Reliance Industries.]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here