नई दिल्ली: मौसम विभाग ने केरल, तटीय कर्नाटक, उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल, सिक्किम और असम के कुछ हिस्सों में भारी बारिश होने की संभावना जताई है. पूर्वोत्तर भारत, अंडमान व निकोबार द्वीपसमूह, कोंकण गोवा, दक्षिण-पश्चिमी मध्य प्रदेश, पूर्वी उत्तर प्रदेश, बिहार, हरियाणा और पंजाब के कुछ हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश के साथ एक-दो स्थानों पर भारी बारिश के आसार हैं.

इसके अलावा उत्तराखंड, जम्मू कश्मीर, गिलगित बाल्टिस्तान, मुजफ्फराबाद, लद्दाख, झारखंड, गंगीय पश्चिम बंगाल, ओडिशा, छत्तीसगढ़, शेष मध्य प्रदेश, दक्षिणी गुजरात, महाराष्ट्र, कर्नाटक, तेलंगाना, रायलसीमा, तटीय आंध्र प्रदेश, आंतरिक तमिलनाडु और लक्षद्वीप के कुछ हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश होने का अनुमान है.

बिहार के 14 जिलों की 39.63 लाख आबादी बाढ़ से प्रभावित

बिहार के 14 जिलों की 3963728 आबादी बाढ़ से प्रभावित है और इसमें से 316661 लोगों को अबतक सुरक्षित ठिकानों तक पहुंचाया गया है. आपदा प्रबंधन विभाग से गुरुवार को प्राप्त जानकारी के मुताबिक प्रदेश के 14 जिलों- सीतामढ़ी, शिवहर, सुपौल, किशनगंज, दरभंगा, मुजफ्फरपुर, गोपालगंज, पूर्वी चम्पारण, पश्चिम चंपारण, खगडिया, सारण, समस्तीपुर, सिवान और मधुबनी- के 108 प्रखंडों के 972 पंचायतों की 3963728 आबादी बाढ़ से प्रभावित है जहां से निष्क्रमित कराए गए 316661 लोगों में से 25116 व्यक्ति 19 राहत शिविरों में शरण लिए हुए हैं.

बाढ़ के कारण विस्थापित लोगों को भोजन कराने के लिए 1001 सामुदायिक रसोई की व्यवस्था की गयी है जहां अबतक 578272 लोगों ने भोजन किया है. दरभंगा जिला में सबसे अधिक 14 प्रखंडों के 173 पंचायतों की 1351200 आबादी बाढ से प्रभावित हुई है. बिहार के बाढ प्रभावित इन जिलों में बचाव और राहत कार्य चलाए जाने के लिए एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की कुल 28 टीमों की तैनाती की गयी है.

खतरे के निशान से उपर बह रही हैं ये नदियां

बिहार के इन जिलों में बाढ का कारण अधवारा समूह नदी, लखनदेई, रातो, मरहा, मनुसमारा, बागमती, अधवारा समूह, कमला बलान, गंडक, बूढ़ी गंडक, कदाने, नून, वाया, सिकरहना, लालबेकिया, तिलावे, धनौती, मसान, कोशी, गंगा, कमला बलान, करेह और धौंस नदी के जलस्तर का बढना है. जल संसाधन विभाग से प्राप्त जानकारी के मुताबिक बागमती नदी सीतामढी, मुजफ्फरपुर और दरभंगा में, बूढी गंडक नदी मुजफ्फरपुर, समस्तीपुर और खगडिया में, कमला बलान नदी मधुबनी में, गंगा नदी भागलपुर में, अधवारा नदी सीतामढी में, खिरोई दरभंगा में और महानंदा नदी पूर्णिया में गुरुवार को खतरे के निशान से उपर बह रही हैं.

असम में बाढ़ की स्थिति में सुधार

असम में बाढ़ की स्थिति में गुरुवार को कुछ सुधार हुआ. हालांकि, एक और व्यक्ति की मौत के साथ ही प्रदेश में इस आपदा में मरने वालों की संख्या बढ़ कर 108 हो गयी है. सरकारी बुलेटिन में कहा गया है कि ब्रह्मपुत्र और इसकी सहायक नदियों में आयी बाढ़ के कारण प्रदेश के 22 जिलों में प्रभावित लोगों की संख्या अब घटकर 12 लाख रह गयी है. बुलेटिन में कहा गया है कि बुधवार को 21 जिलों में यह संख्या 17 लाख थी.

असम के राज्यपाल जगदीश मुखी ने बाढ़ प्रभावित बरपेटा और बक्सा जिलों का दौरा किया, जहां उफनती नदियों ने लाखों लोगों को बेघर कर दिया है.

असम राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एएसडीएमए) की दैनिक रिपोर्ट के अनुसार मोरी गांव जिले में बाढ़ के पानी में डूबने से एक व्यक्ति की मौत हो गयी, जिससे प्रदेश में इससे मरने वाले लोगों की संख्या बढ़ कर 108 हो गयी है.प्राधिकरण ने बताया कि प्रदेश में बाढ़ के कारण हुए भूस्खलन के कारण 26 लोगों की मौत हो चुकी है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here