नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इंडिया आइडियाज सम्मेलन (India Ideas Summit) को संबोधित किया. प्रधानमंत्री ने भारत-अमेरिकी संबधों को लेकर कई महत्वपूर्ण बातें कहीं. साथ ही उन्होंने आत्मनिर्भर भारत पर निवेश आकर्षित करने के लिए भी कई बातें तथ्यवार ढंग से रखीं. पीएम मोदी से पहले अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने भी सम्मेलन को संबोधित किया था. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को अमेरिकी निवेशको को रक्षा, बीमा, स्वास्थ्य कृषि समेत विभिन्न क्षेत्रों में निवेश के लिये आमंत्रित करते हुए कहा कि भारत में खुलेपन, अवसरों और विकल्पों का बढ़िया मेल उपलब्ध है.

भले अपने भाषण में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक बार भी चीन का नाम नहीं लिया, लेकिन उनके भाषण में विदेशी निवेशक ही रहे. पीएम मोदी के भाषण से पहले अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पॉम्पियो ने कहा था कि भारत को चीन पर अपनी निर्भरता कम करनी होगी और चीन में मौजूद बड़ी कंपनियों को भारत में निवेश के लिए आकर्षित करना चाहिए. आइए जानते हैं कि प्रधानमंत्री ने क्या 5 प्रमुख बातें रखीं…

1- भारत को लेकर सकारात्मक माहौल

पीएम मोदी ने कहा कि भारत को लेकर दुनियाभर में सकारात्मक माहौल दिख रहा है. ऐसा इस वजह से हो रहा है क्योंकि भारत खुलेपन, अवसर और तकनीक का एक बेहतरीन मिश्रण दुनिया को दे रहा है. भारत लोगों और गवर्नेंस में खुलेपन को बढ़ावा देता है. भारत ने कृषि क्षेत्र में ऐतिहासिक सुधार किए हैं. इस क्षेत्र में निवेश की संभावनाएं हैं. जैसे मशीनरी और सप्लाई चेन मैनेजमेंट, रेडी टू ईट, मछली पालन और ऑर्गेनिक फार्मिंग में निवेश किया जा सकता है.

2- अवसरों की भूमि भारत

उन्होंने कहा है कि भारत दुनियाभर के लिए अवसरों की भूमि बनकर उभरा है. हाल के समय में ग्लोबल इकॉनमी दक्षता और परिस्थितियों को अनुकूल बनान के लिए काम करती रही है. लेकिन इस सबके बीच हम सबसे बड़ी बात भूल गए. वह ये कि बाहरी झटकों के खिलाफ दोबारा कैसे खड़ा हुआ जाए. भारत ने आत्मनिर्भर भारत की शुरुआत कर एक समृद्ध दुनिया और मजबूत देश की तरफ कदम बढ़ाए हैं. और इसके लिए हम आपकी पार्टनरशिप का इंतजार कर रहे हैं.

3- खुले बाजार में अवसर ज्यादा

पीएम मोदी ने कहा जब खुला बाजार होता है तो अवसर भी बहुत ज्यादा होते हैं. भारत बिजेनस रेटिंग्स में बेतरह कर रहा है. विशेष तौर पर ईज ऑफ डूइंग बिजनेस की रेटिंग्स में. उन्होंने ऊर्जा के क्षेत्र में भी निवेश करने का आह्वान किया.भारत खुद को गैस बेस्ड अर्थव्यवस्था में बदल रहा है. इस सेक्टर में अमेरिकी कंपनियों के लिए काफी अवसर होंगे.

4- दुनिया को बेहतर भविष्य की जरूरत

अपने भाषण के दौरान पीएम मोदी ने कहा है कि पूरी दुनिया को एक बेहतर भविष्य की जरूरत है. भविष्य को लेकर हमारा दृष्टिकोण मानव केंद्रित होना चाहिए. भारत और अमेरिकी दोस्ती ने बीते सालों में नई ऊंचाइयों को छुआ है. अब समय आ गया है जब हमारी पार्टनरशिप महामारी के बाद दुनिया को दोबार उठ खड़ा होने में मदद करे.

5- कई क्षेत्रों में निवेश के लिए आमंत्रण

अपने भाषण के दौरान पीएम मोदी ने कई क्षेत्रों का हवाला देते हुए निवेश का आह्वान किया. उन्होंने कहा कि भारत में निवेश का इससे बेहतर समय नहीं हो सकता. उन्होंने हेल्थ सेक्टर, इंफ्रास्ट्रक्चर, एनर्जी, डिफेंस और स्पेस सहित एग्रीक्लचर सेक्टर में निवेश आमंत्रित किया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here