पाकिस्तान में कोविड वैक्सीन के तीसरण चरण के मानव परीक्षण की मंजूरी मिल गई है. कराची के 200 अलग-अलग ग्रुप के वॉलेंटियर ने परीक्षण के लिए रजिस्ट्रेशन कराया है. परीक्षण को 56 दिनों में पूरा किया जाने का लक्ष्य है. इस दौरान परीक्षण में शामिल 18 साल के पुरूषों और महिलाओं को निष्क्रिय वायरस के तीन डोज दिए जाएंगे.

पाकिस्तान में कोविड वैक्सीन का होने जा रहा परीक्षण

चीन की CanSinoBio और बीजिंग इंस्टीट्यूट की संयुक्त रूप से विकसित वैक्सीन Ad5-nCoV का पाकिस्तान में मानव परीक्षण होने जा रहा है. नियामक संस्था ड्रग रेगुलेटेरी ऑथोरिटी ऑफ पाकिस्तान (DRAP) ने तीसरे चरण के परीक्षण की मंजूरी दे दी है.

नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ (NIH) ने बताया कि पाकिस्तान में पहली बार किसी वैक्सीन का तीसरे चरण का मानव परीक्षण किया जाएगा. गौरतलब कि फार्मा कंपनी CanSinoBio की वैक्सीन का चीन, रूस, चिली, अर्जेंटीना में परीक्षण किया जा रहा है. उम्मीद है कि इस कड़ी में सऊदी अरब भी जल्द शामिल हो जाए.

चीन की वैक्सीन का होगा तीसरे चरण का परीक्षण

AJM फार्मा के प्रमुख अदनान हुसैन ने पिछले महीने NIH के साथ पाकिस्तान में Ad5-nCoV के तीसरे चरण के परीक्षणं के लिए समझौता किया था. कमेटी ने समझौते के मुताबिक वैक्सीन का परीक्षण कराची के इंडस अस्पताल में किए जाने की सिफारिश की थी. इसके अलावा वैक्सीन का परीक्षण आगा खान अस्पताल, शौकत खानम अस्पताल, शिफा इंटरनेशल और यूएचएस लाहौर जैसे संस्थानों में भी किए जाने की उम्मीद है. 24 मार्च को विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री फव्वाद चौधरी ने कोविड-19 पर टास्क फोर्स का गठन किया था. कोविड-19 टास्क फोर्स की अगुवाई का जिम्मा प्रोफेसर डॉक्टर अताउररहमान को सौंपा गया था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here