संयुक्त राष्ट्र (यूएन) ने आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर को वैश्विक आतंकवादी घोषित किया हुआ है। इसके बाद तिलमिलाए पाकिस्तान ने नापाक हरकत करने की कोशिश की लेकिन उसे एक बार फिर मुंह की खानी पड़ी। दरअसल, पाकिस्तान यूएन में भारत को आतंकवाद का पोषक घोषित कराने की कोशिश कर रहा था। अमेरिका ने उसकी घटिया करतूतों को नाकाम करते हुए इस प्रस्ताव को ब्लॉक कर दिया है।

[The United Nations (UN) has declared Masood Azhar, the leader of terrorist organization Jaish-e-Mohammed, a global terrorist. After this, the stunned Pakistan tried to do a nefarious act but once again had to face it. In fact, Pakistan was trying to declare India as a facilitator of terrorism in the UN. The US has blocked this proposal, thwarting its lousy misdeeds.]

उच्च भारतीय सूत्रों ने कहा कि अमेरिका ने शुक्रवार को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (यूएनएससी) के सभी सदस्यों को औपचारिक रूप से सूचित किया था कि वह पाकिस्तान के प्रस्ताव को आधिकारिक रूप से अवरुद्ध कर रहा है और इसके साथ ही यह प्रस्ताव समाप्त हो गया।

[High Indian sources said that the US had on Friday formally informed all members of the United Nations Security Council (UNSC) that it was officially blocking Pakistan’s proposal and with that ended the resolution.]

इस प्रस्ताव के जरिए पाकिस्तान ने अफगानिस्तान में स्थित भारत के एक कंस्ट्रक्शन इंजीनियर को वैश्विक आतंकी घोषित कराने की साजिश रची थी। 

[Through this proposal, Pakistan conspired to declare a construction engineer of India based in Afghanistan as a global terrorist.]

इस भारतीय इंजीनियर का नाम वेणु माधव डोंगारा है जो अफगानिस्तान में स्थित भारतीय कंस्ट्रक्शन कंपनी में काम करते हैं। ने उन चार में से एक भारतीय नागरिक हैं जिन्हें पाकिस्तान ने अपने क्षेत्र में हुई आतंकी गतिविधियों से जोड़ा है। पाकिस्तान चीन की मदद से डोंगारा को यूएनएससी से वैश्विक आतंकी घोषित करवाना चाहता था। अमेरिका ने पिछले साल सितंबर में इस प्रस्ताव को टेक्निकल होल्ड पर डाल दिया था। उम्मीद जताई थी कि पाकिस्तान डोंगरा के खिलाफ अपने आरोपों को साबित करने के लिए और सबूत पेश करेगा। 

[The name of this Indian engineer is Venu Madhav Dongara, who works in an Indian construction company based in Afghanistan. Is one of the four Indian nationals whom Pakistan has linked to terrorist activities in its territory. Pakistan wanted Dongara with the help of China to declare UNSC a global terrorist. The US put the proposal on technical hold in September last year. It was hoped that Pakistan would present more evidence to substantiate its allegations against Dongra.]

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार, पाकिस्तान बेशक डोंगारा के खिलाफ कोई नया सबूत पेश नहीं कर पाया लेकिन वह प्रतिबंध समिति द्वारा उन्हें आतंकी घोषित करने जोर दे रहा था, ऐसे में पिछले हफ्ते अमेरिका ने उसके प्रस्ताव को ब्लॉक कर दिया। यदि पाकिस्तान अब भी डोंगारा को निशाना बनाने की कोशिश करता है तो उसे नया प्रस्ताव लाना होगा।

[According to a report in the Times of India, Pakistan could not present any new evidence against Dongara but was insisting the sanctions committee declare him a terrorist, so the US blocked his proposal last week. If Pakistan still tries to target Dongara, it will have to come up with a new proposal.]

पाकिस्तान द्वारा डोंगारा को निशाना इसलिए बनाया गया क्योंकि यूएन ने जैश के सरगना मसूद अजहर को पिछले साल वैश्विक आतंकी घोषित किया था। ऐसे में पाकिस्तान भारत सरकार को आतंक का पोषक घोषित करने की कोशिश कर रहा है। इससे पहले चार मौकों पर चीन ने अजहर को आतंकी घोषित करने वाले प्रस्ताव को ब्लॉक किया था। हालांकि 2019 में यूएनएससी सदस्यों ने अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित कर दिया।

[Dongara was targeted by Pakistan because the UN had declared Jaish’s leader Masood Azhar as a global terrorist last year. In such a situation, Pakistan is trying to declare the Government of India a source of terror. Earlier on four occasions China had blocked the proposal declaring Azhar as a terrorist. However, in 2019, UNSC members declared Azhar a global terrorist.]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here