भोपाल: कोरोना संकट काल में स्कूली बच्चों के बाद अब कॉलेज में पढ़ने वाले बच्चों को भी जनरल प्रमोशन मिलेगा. प्रदेश में शिवराज सरकार ने कॉलेज स्टूडेंट्स को जनरल प्रमोशन देने का फैसला किया है. प्रदेश में ग्रेजुएशन फर्स्ट ईयर और सेकेंड ईयर के साथ स्नातकोत्तर सेकेंड सेमेस्टर के छात्रों को जनरल प्रमोशन दिया जाएगा. इसकी जानकारी खुद सीएम शिवराज ने ट्वीट करके दी है.

[After school children in the Corona crisis, now students studying in college will also get general promotion. The Shivraj government in the state has decided to give general promotion to college students. General promotion will be given to the students of graduation first year and postgraduate second semester with second year. CM Shivraj himself has given this information by tweeting.]

स्टूडेंट का पिछले साल या सेमेस्टर में प्राप्त अंकों के आधार पर मूल्यांकन होगा. इसके साथ ही स्नातक अंतिम वर्ष एवं स्नातकोत्तर चौथे सेमेस्टर के परीक्षार्थियों के पूर्व वर्षों/ सेमेस्टर्स में से सर्वाधिक अंक प्राप्त परीक्षा परिणाम को प्राप्तांक मानकर अंतिम वर्ष/सेमेस्टर के परीक्षा परिणाम घोषित किए जाएंगे.

[Students will be evaluated on the basis of marks obtained in the previous year or semester. In addition to this, the final year / semester examination results will be declared after the final year and postgraduate fourth semester examiners have obtained the highest marks from the prior years / semesters.]

ऐसे परीक्षार्थी जो परीक्षा देकर अपने अंकों में सुधार चाहते हैं, उनके पास परीक्षा देने का विकल्प भी रहेगा. वे ऑफलाइन परीक्षा देकर नंबर्स में सुधार कर सकेंगे.

[Such candidates who want to improve their marks by taking the exam, will also have the option to take the exam. They will be able to improve the numbers by taking offline examination.]

कॉविड-19 संकट के मद्देनजर अब तक प्रदेश के उच्च शिक्षा एवं तकनीकी शिक्षा महाविद्यालयीन की परीक्षा नहीं हो पाई थी, जिसके बाद सोमवार को सरकार ने बड़ा निर्णय लेते हुए स्नातक प्रथम एवं द्वितीय वर्ष तथा स्नातकोत्तर द्वितीय सेमेस्टर के परीक्षार्थियों को बिना परीक्षा दिए.

[In view of the Covid-19 crisis, the higher education and technical education college examination could not be conducted till now, after which the government took a big decision on Monday, without giving examinations to the candidates of first and second year and post-graduate second semester.]

मध्य प्रदेश में मौजूदा शैक्षणिक सत्र में स्नातक एवं स्नातकोत्तर स्तर पर कुल 17 लाख 77 हजार परीक्षार्थी हैं. इनमें स्नातक प्रथम वर्ष में 5 लाख 25 हजार 200, स्नातक द्वितीय वर्ष में 5 लाख 7 हजार 269, स्नातक तृतीय वर्ष में 4 लाख 30 हजार 298, स्नातकोत्तर द्वितीय सेमेस्टर में 01 लाख 72 हजार 634, स्नातकोत्तर चतुर्थ सेमेस्टर में 01 लाख 41 हजार 599 परीक्षार्थी हैं.

[There are a total of 17 lakh 77 thousand candidates at the undergraduate and postgraduate levels in the current academic session in Madhya Pradesh. Among them, 5 lakh 25 thousand 200 in the first year of graduation, 5 lakh 7 thousand 269 in the second year of graduation, 4 lakh 30 thousand 298 in the third year, 01 lakh 72 thousand 634 in the postgraduate second semester, 01 lakh 41 thousand 599 in the postgraduate fourth semester. Are examinees.]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here