भारत (India) अगर इस साल कोरोना वायरस (Corona Virus) महामारी के कारण आईपीएल (IPL 2020) विदेश में करने का फैसला लेता है तो संयुक्‍त अरब अमीरात यानी यूएई (UAE) ने इसकी मेजबानी की इच्छा जताई है. अमीरात क्रिकेट बोर्ड (Emirates Cricket Board) ने इसकी पुष्टि भी कर दी है. आईपीएल का 13वां सीजन (IPL 13) मार्च (March) के आखिर में शुरू होना था, लेकिन कोरोना महामारी (Corona Crisis) के कारण अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दिया गया है. अब ऐसी अटकलें हैं कि आस्ट्रेलिया में T20 विश्व कप (T20 World Cup) नहीं होने पर बीसीसीआई (BCCI) अक्टूबर (October) में इसका आयोजन कर सकता है.

गल्फ न्यूज की एक रिपोर्ट के अनुसार यूएई क्रिकेट बोर्ड ने बीसीसीआई के सामने आईपीएल की मेजबानी की पेशकश की है. बोर्ड के महासचिव मुबाशशिर उस्मानी के हवाले से खबर में कहा गया है कि इससे पहले भी अमीरात क्रिकेट बोर्ड आईपीएल की सफल मेजबानी कर चुका है. हम द्विपक्षीय बहुराष्ट्रीय क्रिकेट टूर्नामेंटों की पहले भी मेजबानी कर चुके हैं. उन्होंने कहा कि अमीरात क्रिकेट बोर्ड ने इंग्लैंड वेल्स क्रिकेट बोर्ड को भी बाकी मैच यहां कराने का प्रस्ताव दिया था. उन्होंने कहा, हमने इंग्लैंड भारत दोनों के सामने प्रस्ताव रखा है. अगर दोनों में से कोई भी बोर्ड इसे स्वीकार करता है तो हमें खुशी होगी.

आपको बता दें कि कुछ ही दिन पहले इस तरह की खबरें सामने आई थीं कि आईपीएल भारत के बाहर हो सकता है. इस तरह के संकेत बीसीसीआई के कोषाध्‍यक्ष अरुण धूमल ने दिए थे. अरुण धूमल ने कहा था कि आईपीएल को सुरक्षित माहौल में ही कराया जाएगा, अगर भारत में आईपीएल हो सकता है तो इससे अच्‍छा कुछ नहीं हो सकता, लेकिन अगर हालात नहीं बदले कोरोना के कारण लोग इसी तरह से संक्रमित होते रहे तो बीसीसीआई के पास कोई दूसरा ऑप्‍शन नहीं होगा. उन्‍होंने कहा कि आईपीएल किसी दूसरे देश में भी कराया जा सकता है. इसके साथ ही बीसीसीआई कोषाध्‍यक्ष अरुण धूमल ने यह भी कहा कि यह आसान नहीं होने वाला. क्‍योंकि दूसरे देश में आईपीएल जाने से बहुत सारी अन्‍य दिक्‍कतें भी आ सकती हैं. उन्‍होंने कहा था कि अगर हमने आईपीएल को दुबई, श्रीलंका या फिर दक्षिण अफ्रीका ले जाने का फैसला किया तो इसमें खासी दिक्‍कतें होंगी. क्‍योंकि कोरोना वायरस को पूरी दुनिया में फैला हुआ है कमोबेस हर जगह एक ही जैसे हालात हैं. यह बात है कि कहीं कम तो कहीं ज्‍यादा हालात बिगड़े हुए हैं. बातों बातों में अरुण धूमल ने जिन तीन देशों के नाम लिए हैं, उनमें से दो में तो इससे पहले भी आईपीएल हो चुका है. वहीं श्रीलंका ने पिछले दिनों ही आईपीएल को अपने यहां कराने का प्रस्‍ताव बीसीसीआई के सामने रखा था, लेकिन बीसीसीआई की ओर से इस पर अभी तक कोई जवाब नहीं दिया गया है.

आपको बता दें कि बीसीसीआई भी विदेश में आईपीएल कराने का इच्‍छुक तो है, लेकिन इसको लेकर दो बातें कही जा रही हैं. BCCI 3-2 में बंट गया है. बहुमत इस बात को लेकर है कि इस लीग को भारत में ही आयोजित की जाए, लेकिन कई पक्ष ऐसे भी हैं, जो जरूरत पड़ने पर इसे देश से बाहर आयोजित कराना चाहता है. बीसीसीआई के एक अधिकारी ने आईएएनएस से कहा कि आईपीएल के आयोजन को लेकर आम सोच यह है कि लीग भारत में ही हो. लेकिन कुछ ऐसे भी हैं जो चाहते हैं कि परिस्थिति की मांग को देखते हुए अगर जरूरत पड़ती है तो लीग को भारत के बाहर भी ले जाया जा सकता है. अधिकारी ने कहा, अगर आप इस तरह से वर्तमान परिदृश्य को समझना चाहते हैं तो यह निर्णय लेने वालों का 3-2 से विभाजित होने का मामला है. किसने क्या कहा, के नाम पर न जाते हुए, मैं आपको बता सकता हूं कि आम धारणा यह है कि भारत में लीग होना न केवल देश के लोगों में सकारात्मकता का प्रतीक होगा, बल्कि हमारी मदद भी करेगा क्योंकि हमें भी विदेश जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी. हालांकि आईसीसी T20 विश्व कप को लेकर दस जून को बोर्ड बैठक में फैसला लेगा जिसके बाद ही आईपीएल के आयोजन की तस्वीर साफ हो सकेगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here