40 हजार से अधिक क्रूज शिप वर्कर्स (Over 40 thousand cruise ship workers) अभी भी कोरोनावायरस (Corona virus) के डर से समुद्र (Sea) में फंसे हुए हैं. मियामी टाइम्स (Miami Times) की रिपोर्ट (Report) के मुताबकि, तकरीबन 42 हजार वर्कर्स क्रूज शिप पर बिना वेतन के फंसे हैं.(Nearly 42 thousand workers are stranded on a cruise ship without pay) इनमें से कई कोरोना संक्रमित (Corona Infected) भी हैं.

ये सभी क्रूज वर्कर्स (Cruise workers) बीते तीन महीने (Last three months) से कोरोनावायरस (Corona virus) के चलते किसी तरह की यात्रा (Journey) नहीं कर पा रहे हैं. मार्च के मध्य (Middle of March) में क्रूज मेंबर्स (Cruise Members) में कोरोना संक्रमण के मामले काफी तीव्र वृद्धि दर के साथ दर्ज किए गए थे.(Corona infection cases were reported with significantly higher growth rates) इसके बाद से ही दुनियाभर में समुद्री यात्राओं पर प्रतिबंध लगा हुआ है.(Sea
Trips are banned worldwide)

600 से अधिक क्रूज वर्कर्स कोरोना पॉजिटिव (More than 600 cruise workers Corona Positive)

मालूम हो कि जापान में कार्निवल क्रॉप्स की डायमंड प्रिसेज शिप के 600 से अधिक लोग कोरोना पॉजिटिव मिले थे. इनमें से 14 यात्रियों की मौत हो गई थी.(It is known that more than 600 people of Carnival Crops’ diamond price ship in Japan were found Corona positive. 14 of these passengers were killed)

अमेरिका ने 24 जुलाई तक अपने यहां सुमद्री यात्राओं पर प्रतिबंध लगा दिया है. हालांकि, इस बीच कुछ क्रूज शिप वर्कर्स को उनके देश भेजे जाने की प्रक्रिया शुरू हुई है.(The US has banned Sumadri visits till July 24. However, in the meantime the process of sending some cruise ship workers to their country has started)

कुछ क्रूज शिप वर्कर्स लौटे स्वदेश (Some cruise ship workers returned home)

कार्निवल क्रूज लाइन के तकरीबन 3,000 वर्कर्स इस महीने की शुरुआत में यूरोप भर में सवारी और उड़ानों को पकड़ने के लिए क्रोएशिया में रवाना हुए. MSC क्रूज के 1,000 से अधिक भारतीय वर्कर्स यूरोप और दक्षिण अमेरिका से चार्टर फ्लाइट से स्वदेश के लिए रवाना हुए हैं.

कई कैरिबियाई देशों ने अपने बंदरगाहों में क्रूज शिप्स के आने की इजाजत नहीं दी है. ये देश कोरोना संक्रमण के बढ़ने के डर से ऐसा कर रहे हैं. हालांकि, बारबाडोस ने अपने हवाई अड्डों से क्रूज वर्कर्स को उनके देश भेजने की इजाजत दी है.

अधिकतर क्रूज वर्कर्स में कोरोनावायरस के हल्के लक्षण पाए गए हैं जो कुछ सप्ताह में ठीक हो जा रहे हैं. लेकिन व्यस्कों और बुजुर्गों, जिनमें पहले से स्वास्थ्य संबंधित समस्याएं होती हैं उनके लिए यह वायरस घातक साबित हो रहा है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here