भारत में ऑनलाइन पेमेंट का संचालन करने वाली सरकारी कंपनी नेशनल पेमेंट कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया ने कहा है कि गूगल पे को बैन नहीं किया गया है.

सोशल मीडिया पर 26 जून को जब गूगल पे ट्रेंड करने लगा तो लोगों ने इसके बारे में खोज-खबर लेनी शुरू की. गूगल पे से जुड़े तीन हैशटैग #GPayBanned By RBI, #GPay Is Illegal और #Google Pay ट्रेंड कह रहे थे. इन हैशटैग से जुड़े ट्वीट्स में कहा जा रहा था कि आरबीआई ने गूगल पे को बैन कर दिया है. गूगल पे गैरकानूनी है. कुछ लोगों इन हैशटैग के साथ कुछ खबरों के लिंक भी शेयर किए थे, जिनमें दावा किया गया था कि आरबीआई ने पेमेंट ऐप गूगल पे को बैन कर दिया है.

NPCI ने कहा, बैन की बात अफवाह  

लेकिन भारत में ऑनलाइन पेमेंट का संचालन करने वाली  सरकारी कंपनी नेशनल पेमेंट कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया ने कहा है कि गूगल पे को बैन नहीं किया गया है. गूगल पे को बैन करने की बात अफवाह है.

एनपीसीआई ने कहा है कि गूगल पे पेमेंट सिस्टम ऑपरेटर है और यह पूरी तरह कानूनी है. गूगल पे थर्ड पार्टी ऐप प्रोवाइडर है, जो यूपीआई के फ्रेमवर्क के तहत काम करता है. आरबीआई ने भी इसकी पुष्टि की है. आरबीआई ने कहा है कि गूगल पे के पेमेंट सिस्टम को लेकर कोई आपत्ति नहीं है. इसके बाद गूगल ने इस बारे में चल रही खबरों का खंडन करते हुए कहा कि गूगल पे पूरी तरह कानूनी दायरे में रह कर काम करता है.

गूगल पे ने भी जारी किया बयान

दरअसल सोशल मीडिया पर यह दावा किया जा रहा था कि गूगल पे से मनी ट्रांसफर सेफ नहीं है. गूगल पे ऐप पूरी तरह गैरकानूनी और अनसेफ है. इस पर गूगल ने बयान जारी कर कहा कि इसे लेकर अफवाह फैलाई जा रही है. इससे मनी ट्रांसफर पूरी तरह सुरक्षित है. गूगल पे पूरी तरह कानूनी दायरे में काम करता है. गूगल पे के बारे में एनपीसीआई की वेबसाइट के बारे में पता किया जा सकता है. एनपीसीआई ने अब इसकी पुष्टि की है कि गूगल पे पूरी तरह कानूनी ऐप है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here