कोरोना संकट के कारण ब़ड़ी संख्या में प्रवासी मजदूर अपने गांव लौट चुके हैं।(Due to the Corona crisis, a large number of migrant workers have returned to their villages). इन्हें रोजगार देने के मकसद से मोदी सरकार ने ‘गरीब कल्याण रोजगार अभियान’ शुरू करने का फैसला किया है।(For the purpose of giving employment to them, the Modi government has decided to start ‘Garib Kalyan Rojgar Abhiyan’). वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा 116 जिलों में 125 दिन के अंदर 25 योजनाओं को इस अभियान के तहत लाया जाएगा।(Finance Minister Nirmala Sitharaman said that 25 schemes will be brought under this campaign in 116 districts within 125 days).

मीडिया को इसकी जानकारी देते हुए वित्त मंत्री ने कहा कि पीएम मोदी 20 जून को इस योजना की शुरुआत बिहार से करेंगे।(While giving this information to the media, the Finance Minister said that PM Modi will start this scheme from Bihar on June 20). उन्होंने कहा कि हमने पूरे देश में 116 जिलों की पहचान की है जहां बड़ी संख्या में प्रवासी मजदूर घर वापस गए हैं।ये जिले 6 राज्यों में हैं।(He said that we have identified 116 districts across the country where a large number of migrant laborers have gone back home. These districts are in 6 states). इन लोगों के कौशल की सरकार ने मैपिंग की है। इस अभियान के तहत बिहार के 32, उत्तर प्रदेश के 31, मध्य प्रदेश के 24, राजस्थान के 22 , ओडिशा के 4, झारखंड के 3 जिलों के प्रवासी मजदूरों को रोजगार मिलेगा।(The government has mapped the skills of these people. Under this campaign, migrant laborers from 32 districts of Bihar, 31 of Uttar Pradesh, 24 of Madhya Pradesh, 22 of Rajasthan, 4 of Odisha, 3 districts of Jharkhand will get employment).

50 हजार करोड़ के कराए जाएंगे काम (50 thousand crore work will be done)

उन्होंने कहा कि हर योजना को हम 125 दिनों में उसके उच्चतम स्तर पर लेकर जाएंगे। अभियान के तहत सरकार के 25 योजना में 50,000 करोड़ रुपये के काम कराए जाएंगे।(He said that we will take every scheme to its highest level in 125 days. Under the campaign, works worth Rs 50,000 crore will be done in 25 schemes of the government). इसके तहत हर जिले में कम से कम 25000 प्रवासी मजदूरों को काम मिलेगा। उन्होंने आश्वास्त किया जिन जिलों में प्रवासी मजदूर अधिक होंगे उन्हें भी काम देने का प्रयास होगा।(Under this, at least 25000 migrant laborers will get work in every district. He assured that there will be an effort to provide work to the districts where there will be more migrant laborers).

इन कामों को किया गया है शामिल (These works have been included)

वित्त मंत्री ने बताया इस अभियान के तहत कम्युनिटी सैनिटाइजेशन कॉम्पलेक्स, ग्राम पंचायत भवन, वित्त आयोग के फंड के अंतर्गत आने वाले काम, नेशनल हाइवे वर्क्स, जल संरक्षण और सिंचाई, कुएं की खुदाई.(The Finance Minister said that under this campaign, Community Sanitization Complex, Gram Panchayat Bhawan, works under the Finance Commission funds, National Highway Works, Water Conservation and Irrigation, Digging of wells). पौधरोपण, हॉर्टिकल्चर, आंगनवाड़ी केंद्र, पीएम आवास योजना (ग्रामीण), पीएम ग्राम संड़क योजना, रेलवे, भारत नेट के फाइबर ऑप्टिक बिछाने, जल जीवन मिशन आदि के काम कराए जाएंगे।(Plantation, Horticulture, Anganwadi centers, PM Awas Yojana {Rural}, PM Gram Sadak Yojana, Railways, Fiber Optic laying of Bharat Net, Water Life Mission etc. will be done). बता दें कि आत्मनिर्भर भारत पैकेज में भी इसी समस्या को ध्यान में रखते हुए सरकार ने मनरेगा का बजट 40 हजार करोड़ से बढ़ाकर एक लाख एक हजार करोड़ कर दिया है।(Please tell that keeping in mind the same problem in the self-sufficient India package, the government has increased the budget of MNREGA from 40 thousand crore to one lakh one thousand crore).

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here