भोपाल। कलियासोत डैम में बुधवार रात को मछली पकड़ने पानी में उतरे युवक को मगरमच्छ गहरे पानी में खींच ले गया। गुरुवार दोपहर करीब 7 घंटे की मशक्कत के बाद युवक का शव बरामद हो सका। उसके शरीर पर 100 से अधिक घाव मिले हैं। एक पखवाड़े के अंदर मगरमच्छ के हमले की यह दूसरी घटना है। पुलिस के साथ ही वन विभाग की टीम मामले की जांच कर रही है।

चूना भट्टी पुलिस के मुताबिक मूलतः सरगुजा निवासी प्रताप पुत्र कृष्णा शाह (26) कलियासोत डैम के 13 गेट के पास स्थित एक फार्म हाउस पर चौकीदारी करता था। यह फार्म हाउस सरगुजा महाराज अरुणेश्वर सिंहदेव का बताया जाता है। रात करीब 11:30 बजे वह अपने ममेरे भाई संजय (28) के साथ मछली पकड़ने के लिए फार्म हाउस के सामने डैम पर पहुंचा था।

अंधेरा होने के कारण प्रताप ने संजय को कमरे से टार्च लाने के लिए भेज दिया। करीब 15 मिनट बाद संजय टार्च लेकर पहुंचा तो प्रताप के कपड़े तो किनारे पर रखे दिखे, लेकिन प्रताप नहीं दिखा। इसके बाद उसने पुलिस को सूचना दी।

200 मीटर दूर, 30 फीट गहरे पानी में मिला शव

चूना भट्टी थाना प्रभारी शिवराजसिंह ने बताया कि गुरुवार सुबह 6 बजे से गोताखोर प्रताप की तलाश में जुट गए थे। 9 बजे एसडीआरएफ की टीम ने रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू किया। डैम में बड़ी संख्या में मगरमच्छों की मौजूदगी के कारण बचाव कार्य के दौरान टीम के लोग सुरक्षा की दृष्टि से लगातार गश्त भी करते रहे। अंततः दोपहर 1:30 बजे किनारे से 200 मीटर दूर करीब 30 फीट गहरे पानी में तलहटी से प्रताप का शव बरामद कर लिया गया। शव पर 100 से अधिक घाव के निशान थे। उसके पैर, हाथ में काफी गहरे जख्म मिले। शव की तलाशी में एसडीआएफ की टीम के 25 लोग, होमगार्ड के 20 जवानों के अलावा नगर निगम के गोताखोर शामिल हुए। टीआई के मुताबिक प्रताप के शव का पोस्टमार्टम करा लिया गया है। संक्षिप्त पोस्टमार्टम रिपोर्ट में उसके शरीर पर जलीय जंतु के दांत के निशान पाए गए हैं। यह मगरमच्छ के हो सकते हैं।

एक पखवाड़े में दूसरी घटना : कलियासोत डैम में मगरमच्छ द्वारा इंसान पर हमले की एक पखवाड़े में यह दूसरी घटना है। इसके पूर्व डैम में भदभदा के पास नहा रहे अमित जाटव (28) पर 9 जून को दोपहर में मगरमच्छ ने हमला कर दिया था। इस दौरान अमित के साथ नहा रहे उसके दोस्त गजेंद्र ने साहस का परिचय दिया। उसने किनारे से एक डंडा लाकर मगरमच्छ को मार भगाया था। अमित की जांघ में गहरा घाव हो गया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here