देश में कोरोना संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं. भारत में साढ़े नौ लाख के करीब कोरोना से संक्रमित मरीज है. इस बीच बिहार में भी कोविड का संक्रमण तेजी से फैल रहा है जिसे रोकने के लिए राज्य सरकार ने एक बार फिर से राज्य में लॉकडाउन लगाया है. इस बार लॉकडाउन कई मायनो में अलग रहेगा. बिहार में आज से यानि 16 जुलाई से अगले 15 दिनों के लिए लॉकडाउन लगा दिया गया है. लॉकडाउन के दौरान बिहार में ट्रांस पोर्ट बंद रहेगा लेकिन पूरे राज्य में रेल सेवाएं चलती रहेंगी. इस बार राज्य में शहरों और ग्रामीण इलाके में लॉकडाउन के लिए कुछ अलग नियम हैं.

बिहार में 31 जुलाई तक लगने वाला लॉकडाउन मुख्य रूप से जिला, अनुमंडल और ब्लॉक मुख्यालय में होगा. लॉकडाउन के दौरान ग्रामीण इलाकों में कुछ छूट के साथ छोटे बाजार खुले रहेंगे. राज्य में लॉकडाउन के दौरान ट्रांसपोर्ट पूरी तरह से बंद रहेगा लेकिन जरूरी सेवाओं से संबंधित ट्रांसपोर्ट पहले की तरह जारी रहेगा.

बिहार में लॉकडाउन के दौरान मंदिरों में भी सामूहिक पूजा या फिर पुजारी के अलावा किसी अन्य व्यक्ति को प्रवेश नहीं दिया जाएगा. अभी सावन का मौसम चल रहा है और ऐसे में शिवालयों और मंदिरों में भीड़ न लगाने के सख्त निर्देश दिए गए हैं.

लॉकडाउन के दौरान ग्रामीण इलाकों में शहरों की अपेक्षा कुछ ज्यादा राहत रहेगी. गावों में छोटे बाजार खोले जा सकते हैं लेकिन भीड़ लगने पर बाजार बंद होने के भी आदेश दिए जा सकते हैं.

सभी कॉमर्शियल और प्राइवेट संस्थान बंद रहेंगे. बिहार सरकार के अधीन सभी सरकारी कार्यालय भी लॉकडाउन के दौरान बंद रहेंगे इसके अलावा आवश्यक केंद्र सरकार के अधीन सभी दफ्तर लॉकडाउन के दौरान पूरी तरह बंद रहेंगे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here