आईपीएल ने भारतीय टीम को कई अच्छे क्रिकेटर दिए हैं. आज हम आपकों अपने इस ख़ास लेख में उन 5 क्रिकेटरों का नाम बताएंगे, जो भारतीय क्रिकेट को आईपीएल की देन है. दरअसल, आईपीएल से ही इन 5 क्रिकेटरों के खेल में निखारा आया था और आज ये पांचों क्रिकेटर भारतीय टीम के मैच विनर खिलाड़ी है.

रोहित शर्मा

रोहित शर्मा ने अपनी विस्फोटक बल्लेबाजी से अपने करोड़ो क्रिकेट प्रशंसक बना लिए हैं.उन्होंने क्रिकेट में कई शानदार उपलब्धि हासिल की हुई है. वह मौजूदा समय में भारतीय टीम के सबसे अहम खिलाड़ियों में से एक है. वह वनडे क्रिकेट में 3 दोहरे शतक भी बना चुके हैं.

विश्व कप 2019 में भी रोहित शर्मा ने शानदार बल्लेबाजी का नमूना पेश किया था और कुल 5 शतक भारतीय टीम के लिए बना डाले थे. रोहित शर्मा आईपीएल से पहले ही भारतीय टीम में आ चुके थे, लेकिन अपने शुरूआती अंतरराष्ट्रीय करियर में वह ज्यादा सफल नहीं हो पा रहे थे.

वहीं आईपीएल में लगातार अच्छा प्रदर्शन करने के कारण उन्हें भारतीय टीम में जगह मिल जाती थी और फिर बाद में आईपीएल के साथ-साथ वह अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में भी अच्छा प्रदर्शन करने लगे.

हार्दिक पांड्या

हार्दिक पांड्या भारतीय टीम के एक अहम खिलाड़ी हैं. उनके टीम में होने से संतुलन बना रहता है, क्योंकि वह बल्लेबाजी से भी टीम के लिए योगदान देते हैं और गेंदबाजी से भी प्रदर्शन करते हैं, लेकिन पिछले 3-4 महीनों से भारतीय टीम को अपने इस स्टार ऑलराउंडर के बगैर ही मैदान पर उतरना पड़ रहा था.

दरअसल, देश का यह ऑलराउंडर पीठ की चोट के चलते टीम से बाहर चल रहा था. हालांकि एक बार जब वह दोबारा भारतीय टीम में वापसी करेंगे, तो उनके होने से टीम को अच्छा संतुलन मिलेगा.

भारतीय टीम को ये मैच विनर ऑलराउंडर आईपीएल से मिला था. साल 2015 के आईपीएल से इन्होने खेलना शुरू किया था और अपने पहले ही आईपीएल में इन्होने धूम मचाकर भारतीय टीम में अपनी जगह बना ली थी.

रविंद्र जडेजा

रविन्द्र जडेजा अबतक भारतीय टीम के लिए कुल 49 टेस्ट मैच और 165 वनडे मैच व 49 टी-20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेल चुके है. जडेजा ने वनडे में 31.88 की औसत से 2296 रन, टेस्ट में 35.26 की औसत से 1869 रन व टी-20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 173 रन बनाये हुए हैं.

रविन्द्र जडेजा ने 49 टेस्ट मैच में 213 विकेट, 165 वनडे मैच में 187 विकेट व 49 टी-20 अंतरराष्ट्रीय मैच में 39 विकेट लिए हुए हैं. वह वनडे में 58, टेस्ट में 36 और टी-20 में भारत के लिए 21 कैच अब तक पकड़ चुके हैं.

इस ऑलराउंडर खिलाड़ी ने अपना पहला आईपीएल सीजन राजस्थान रॉयल्स के लिए साल 2008 में खेला था और उस सीजन में अच्छा प्रदर्शन कर इन्होने जल्द ही भारतीय टीम में अपनी जगह बना ली थी. आज ये भारतीय टीम के तीनों फॉर्मेट में मैच विनर खिलाड़ी हैं.

जसप्रीत बुमराह

जसप्रीत बुमराह वर्तमान समय में विश्व क्रिकेट के नंबर-1 तेज गेंदबाज माने जाते हैं. इनकी गेंदों का सामना करना किसी भी बल्लेबाज के लिए काफी मुश्किल रहता है.

वह अपनी गेंदों में गति में मिश्रण व अपनी शानदार यॉर्कर गेंद के लिए पहचाने जा रहे है और अपनी उगलती गेंदों से वह दुनिया के बड़े-बड़े बल्लेबाजों को चकमा दे रहे हैं.

इनका एक्शन बहुत ही अजीबोगरीब है, दुनिया के सभी बल्लेबाजों को अबतक उनके एक्शन से परेशानी आई हुई है. उनका एक्शन पारंपरिक नहीं हैं, लेकिन यह बात उन्हें फायद ही पहुंचाती है, क्योंकि बल्लेबाज उनके एक्शन से कभी भी सहज महसूस नहीं कर पाता है.

बुमराह ने आईपीएल करियर की शुरूआत साल 2013 में मुंबई इंडियंस से की थी और तब से उन्होंने पीछे मुड़कर नहीं देखा है. आज वह दुनिया के सर्वश्रेष्ठ गेंदबाज माने जाते हैं.

युजवेंद्र चहल

युजवेंद्र चहल साल 2011 के आईपीएल में मुंबई इंडियंस टीम द्वारा ख़रीदे गये थे. हालांकि उन्हें अपने पहले आईपीएल में एक भी मैच खेलने का मौका नहीं मिला था. साल 2012 में भी वह इस टीम के साथ ही थे, लेकिन एक बार फिर उन्हें प्लेइंग इलेवन में मौका नहीं मिल पाया था.

साल 2013 में भी उन्होंने मुंबई इंडियंस के लिए ही खेला और इस सीजन उन्हें एक मैच खेलने का मौका मिल गया था. हालांकि वह इस मैच में विकेट हासिल नहीं कर पाए थे, लेकिन साल 2013 में मुंबई इंडियंस चैंपियन बन गई थी. साल 2014 से युजवेंद्र चहल आरसीबी के लिए खेलने लगे थे.

आरसीबी के लिए इस खिलाड़ी ने लगातार अच्छा प्रदर्शन किया और अपनी जगह भारतीय टीम में बना ली. आज यह स्पिनर भारतीय टीम के मुख्य स्पिनरों में से एक है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here