COVID-19 के कारण अगर दुनिया भर में खेल क्रिकेट भी ठप नहीं पड़ता तो इंडियन प्रीमियर लीग यानी आईपीएल (IPL) का नया विजेता मिल गया होता. साथ ही हमें पता चल चुका होता कि आईपीएल 13 का खिताब किसने अपने नाम किया है. लेकिन जो आईपीएल 2020 29 मार्च से ही शुरू होकर अब खत्‍म हो चुका होता, उसके बारे में अभी तक यही पता नहीं चल पाया है कि इस बार होगा कि नहीं होगा. फिलहाल तो कोरोना वायरस (Corona Virus) महामारी के कारण अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दिया गया है.

अगर आईपीएल के अब तक के फाइनल की बात करें तो टीम इंडिया के पूर्व कप्‍तान एमएस धोनी की कप्‍तानी वाली चेन्नई सुपरकिंग्स की टीम ने अब तक जिन दस आईपीएल में हिस्सा लिया है, उनमें से आठ बार वह फाइनल में पहुंची है. यहां यह भी ध्‍यान रखने की बात है कि स्पॉट फिक्सिंग प्रकरण के कारण सीएसके यानी चेन्‍नई सुपरकिंग्‍स की टीम 2016 2017 से बाहर रही थी. हालांकि इसके बाद भी इस टीम ने तीन बार खिताब अपने नाम किया है. वहीं आईपीएल की सबसे सफल टीमों में से एक मुंबई इंडियंस की बात करें तो रोहित शर्मा के नेतृत्व वाली मुंबई इंडियन्स सर्वाधिक चार बार चैंपियन बनी, जबकि कोलकाता नाइटराइडर्स (केकेआर) ने गौतम गंभीर की अगुवाई में दो खिताब अपने नाम किए हैं. हैदराबाद की टीमों यानी सनराइजर्स हैदराबाद ने भी दो खिताब जीते हैं, एक बार सनराइजर्स हैदराबाद उससे पहले एक बार डेक्कन चार्जर्स ने खिताब अपने नाम किया है. हालांकि आईपीएल की पहली चैंपियन राजस्थान रायल्स थी. चलिए अब आपको बताते हैँ कि साल 2008 से लेकर साल 2019 तक जो 12 आईपीएल अब तक खेले गए हैं, उसमें कब कौन कौन सी टीमों के बीच फाइनल खेला गया है उन फाइनल का क्‍या हाल रहा है.

साल 2008 : राजस्‍थान रॉयल्‍स बनाम चेन्‍नई सुपरकिंग्‍स

राजस्‍थान रॉयल्‍स को 2008 में किसी ने खिताब का दावेदार नहीं माना था, लेकिन शेन वार्न की अगुवाई में उसके युवा खिलाड़ियों ने फाइनल में जगह बनाई मुंबई के डीवाई पाटिल स्टेडियम में एक जून को खेले गए रोमांचक फाइनल में चेन्नई पर तीन विकेट से जीत दर्ज की थी. रायल्स को जीत के लिए आखिरी गेंद पर एक रन चाहिए था. लक्ष्मीपति बालाजी की गेंद पर पाकिस्तान के सोहेल तनवीर ने यह महत्वपूर्ण रन पूरा किया अपनी टीम को पहली बार आईपीएल का विजेता बना दिया.

साल 2009 : डेक्कन चार्जर्स बनाम रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर

जोहानिसबर्ग में 24 मई 2009 को खेले गए दूसरे आईपीएल के फाइनल में डेक्कन चार्जर्स की टीम छह विकेट पर 143 रन ही बना पाई, लेकिन स्टार खिलाड़ियों से सजी रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर यानी आरसीबी की टीम नौ विकेट पर 137 रन तक ही पहुंच पाई. आरसीबी को जीत के लिए अंतिम ओवर में 15 रन की जरूरत थी रोबिन उथप्पा क्रीज पर थे लेकिन आरपी सिंह ने इस ओवर में केवल आठ रन दिए.

साल 2010 : चेन्‍नई सुपरकिंग्‍स बनाम मुंबई इंडियंस

चेन्नई सुपरकिंग्‍स 2010 में पहली बार चैंपियन बना, जब उसने 25 अप्रैल को डीवाई पाटिल स्टेडियम में खेले गए फाइनल में मुंबई को 22 रन से शिकस्त दी थी. सचिन तेंदुलकर की अगुवाई वाली टीम 169 रन का पीछा करते हुए नौ विकेट पर 146 रन ही बना पाई थी एमएस धोनी की कप्‍तानी वाली टीम चेन्‍नई सुपरकिंग्‍स ने आईपीएल अपने नाम कर लिया था.

साल 2011 : चेन्‍नई सुपरकिंग्‍स बनाम रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर

साल 2011 में एक बार फिर चेन्नई सुपरकिंग्‍स खिताब अपने नाम किया. 2010 में आईपीएल जीतने वाली टीम ने 28 मई 2011 को अपने घरेलू मैदान पर इस बार आरसीबी को 28 रन से करारी शिकस्त देकर अपना खिताब बरकरार रखा था. इस तरह से लगातार दो बार आईपीएल जीतने वाली चेन्‍नई पहली टीम बन गई थी.

साल 2012 : कोलकाता नाइटराइडर्स बनाम चेन्‍नई सुपरकिंग्‍स

गौतम गंभीर की कोलकाता नाइट राइडर्स यानी केकेआर ने 27 मई 2012 को चेन्नई सुपरकिंग्‍स की खिताबी हैट्रिक पूरी नहीं होने दी थी. इस बार केकेआर ने चेन्‍नई को उसी के मैदान पर पांच विकेट से शिकस्त दी थी. फाइनल में केकेआर के सामने 191 रन का लक्ष्य था. मनोज तिवारी ने ड्वेन ब्रावो की गेंद पर लगातार दो चौके जड़कर टीम को दो गेंद शेष रहते जीत दिलाई थी.

साल 2013 : मुंबई इंडियंस बनाम चेन्‍नई सुपरकिंग्‍स

अब बारी थी मुंबई इंडियंस की, जो पहले भी फाइनल में पहुंचकर खिताब अपने नाम नहीं कर पाई थी. रोहित शर्मा के कमान संभालने के बाद मुंबई इंडियंस 2013 में पहली बार चैंपियन बना. उसने कोलकाता में 26 मई को खेले गए फाइनल मैच में चेन्नई सुपरकिंग्‍स को एक बार फिर 23 रन से हराया पहली बार आईपीएल की चैंपियन टीम बन गई.

साल 2014 : कोलकाता नाइटराइडर्स बनाम किंग्‍स इलेवन पंजाब

कोलकाता नाइटराइडर्स यानी केकेआर ने एक जून 2014 को बेंगलुरू में किंग्स इलेवन पंजाब के चार विकेट पर 199 रन के स्कोर को बौना साबित किया था. तब पीयूष चावला ने आखिरी ओवर में परविंदर अवाना पर विजयी चौका लगाया था. इसके साथ ही अब तक इस तरह से केकेआर दो बार खिताब अपने नाम कर चुकी थी.

साल 2015 : चेन्नई सुपरकिंग्‍स बनाम मुंबई इंडियंस

मुंबई इंडियंस ने एक बार फिर आईपीएल का खिताब अपने नाम किया था. 24 मई 2015 को कोलकाता में खेले गए फाइनल में चेन्नई सुपरकिंग्‍स पर मुंबई इंडियंस ने पर 41 रन से आसान जीत दर्ज की थी. इस तरह से इस बार भी आईपीएल की दो सबसे बड़ी मजबूत टीमों के बीच आईपीएल का फाइनल देखने के लिए हमें मिला.

साल 2016 : सनराइजर्स हैदराबाद बनाम रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर

29 मई 2016 को सनराइजर्स हैदराबाद ने बड़े स्कोर वाले फाइनल में आरसीबी यानी विराट कोहली कप्‍तानी वाली टीम रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर को आठ रन से हराया था. आरसीबी के सामने 209 रन का लक्ष्य था, लेकिन वह आखिरी ओवर में 18 रन बनाने की चुनौती से पार नहीं पा सका था. इस बार न तो सीएके फाइनल में पहुंची थी न ही मुंबई इंडियंस. वहीं आरसीबी को एक बार फिर फाइनल में हार मिली.

साल 2017 : राइजिंग पुणे सुपरजाइंट्स बनाम मुंबई इंडियंस

राइजिंग पुणे सुपरजाइंट्स 21 मई 2017 को हैदराबाद में मुंबई को पटखनी देने के करीब पहुंच गया था, लेकिन आखिर में उसे एक रन से हार झेलनी पड़ी. पुणे 130 रन के लक्ष्य के सामने अंतिम ओवर में 11 रन नहीं बना पाया था. रोहित शर्मा की कप्‍तानी वाली मुंबई इंडियंस ने फिर आईपीएल का खिताब अपने नाम किया.

साल 2018 : चेन्नई सुपरकिंग्‍स बनाम सनराइजर्स हैदराबाद

इस साल चेन्नई सुपरकिंग्‍स ने 2018 में दो साल के प्रतिबंध के बाद वापसी की 27 मई को मुंबई में खेले गए फाइनल में सनराइजर्स हैदराबाद को नौ गेंद शेष रहते हुए आठ विकेट से करारी शिकस्त दी थी. शेन वाटसन ने तब चेन्नई सुपरकिंग्‍स के लिए नाबाद 117 रन बनाए थे. यह मैच आईपीएल का सबसे नीरस मैचों में से एक था.

साल 2019 : मुंबई इंडियंस बनाम चेन्‍नई सुपरकिंग्‍स

मुंबई इंडियंस ने इसके एक साल बाद 12 मई 2019 को हैदराबाद में एक रन से रोमांचक जीत दर्ज कर चेन्नई सुपरकिंग्‍स से बदला चुकता कर दिया था. चेन्नई 150 रन के लक्ष्य के सामने सात विकेट पर 148 रन ही बना पाया था. उसे आखिरी ओवर में नौ रन चाहिए थे, शेन वाटसन रविंद्र जडेजा क्रीज पर थे, लेकिन इन दोनों पर लसिथ मलिंगा भारी पड़ गए थे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here