(9 June, Tuesday) सोने-चांदी की कीमतों में आज फिर आई गिरावट

नई द‍िल्‍ली: मंगलवार (Tuesday) को सोने-चांदी (Gold & Silver) की कीमतों (Cost) में गिरावट देखने को मिली है। अनलॉक (Unlock) के बीच देश में ज्यादातर मॉल्स और रेस्टोरेंट्स (Malls And Restaurants) खोले जा रहे हैं। लॉकडाउन (Lockdown) में रियायत का यही सिलसिला अब अन्य देशों में देखने के मिलने लगा है। इस बीच बाजारों में उम्मीद जगने लगी है। अंतरराष्ट्रीय बाजार (International Market) के मजबूत संकेतों के चलते राष्ट्रीय राजधानी के हाजिर सर्राफा बाजार to (Bullion market) में सोमवार (Tuesday) को सोने का भाव 348 रुपये उछाल के साथ 46,959 रुपये प्रति 10 ग्राम हो गया (Gold Rise By Rs. 348 to Rs. 46,959 per 10 grams)। एमसीएक्स पर सोने की कीमतों में 0.88 फीसदी का उछाल देखा गया, जिसके बाद कीमतें 46,101 रुपए प्रति 10 ग्राम के स्तर पर पहुंच गईं।

आज नई दिल्ली के सर्राफा बाजार में 22 कैरेट सोने की कीमत बढ़कर 45,100 रुपए प्रति 10 ग्राम हो गई, जबकि चेन्नई में ये कीमत 44,350 रुपए दर्ज की गई।

वहीं मुंबई में सोने की कीमत 44,740 रुपए प्रति 10 ग्राम के स्तर पर पहुंच गई है। वहीं सोमवार को सिर्फ सोने की कीमतें ही नहीं बढ़ी हैं, बल्कि चांदी की कीमतों में भी उछाल आया है। वायदा बाजार में सोमवार को चांदी की कीमत 47,755 रुपए प्रति किलो के स्तर पर पहुंच गई। सर्राफा बाजार में भी चांदी की कीमतों में बढ़ोत्तरी दर्ज की गई है और चांदी 47,440 रुपए प्रति किलो के स्तर पर जा पहुंची है।

अंतरराष्ट्रीय बाजार में भी बढ़ी सोने-चांदी की कीमत

अगर अंतर्राष्ट्रीय बाजार में सोने-चांदी की कीमत की बात करें तो दोनों की ही कीमतों में तेजी आई है। सोमवार को वैश्विक बाजार में सोने में 10.60 डॉलर की बढ़त देखी गई, जिसके साथ ही इसकी कीमत 1693.60 डॉलर प्रति औंस पर पहुंच गई। वहीं चांदी 0.27 डॉलर की बढ़त के साथ 17.75 डॉलर प्रति औंस पर ट्रेंड कर रही है।

दरअसल लॉकडाउन के बाद अधिकतर देशों में आर्थिक गतिविधियां शुरू हो गई हैं और इससे शेयर बाजार की रौनक धीरे-धीरे लौट रही है। इस वजह से निवेशकों का रुझान गोल्ड बाजार की ओर कम हो रहा है। चीन और अमेरिका के बीच तनाव बढ़ने और दुनिया के केंद्रीय बैंकों की ओर से राहत पैकेज जारी किए जाने से इसकी कीमतों में उछाल दर्ज की गई थी। वैसे लॉकडाउन की वजह से शेयर बाजार को लगे झटके ने भी निवेशकों का गोल्ड की ओर रुझान बढ़ाया था। एक्सपर्ट्स का कहना है कि जब तक आर्थिक गतिविधियां पूरी तरह जोर नहीं पकड़ेंगी तब तक निवेशकों की गोल्ड में होल्डिंग नहीं घटेगी। वैसे भारतीय रिटेल बाजार में सोने की मांग अभी कम ही देखी जा रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here