खुशखबरी! 4 दिन के बाद चांदी की कीमतों में आई गिरावट, जानिए 10 ग्राम सोने के नए भाव


नई दिल्ली. (10-June, Wednesday)  चांदी (Silver) की कीमतों में जारी तेजी का सिलसिला अब थम गया है. घरेलू बाजार में एक किलोग्राम चांदी (1 Kg Silver) के दाम 110 रुपये (110 rupees) तक लुढ़क गए है. वहीं, सोने (Gold) की कीमतों में तेजी आई है. बुधवार (Wednesday) को 10 ग्राम सोने (10 Gram Gold) के भाव 245 रुपये (245 Rupees) तक बढ़ गए. इससे पहले मंगलवार (Tuesday) को दिल्ली (Delhi) में 10 ग्राम सोने (10 Gram Gold) के दाम 46,833 रुपये (46,833 Rupees) से बढ़कर 47,235 रुपये (47,235 Rupees) हो गए. इस दौरान कीमतों में 402 रुपये (402 Rupees) की तेजी आई है. वहीं, अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर सोने की कीमतें बढ़कर 1705 डॉलर प्रति औंस पर पहुंच गई.

सोने की नई कीमतें – बुधवार को दिल्ली में 10 ग्राम सोने की कीमतें 47,419‬ रुपये से बढ़कर 47,664 रुपये हो गई है.

चांदी की कीमतें – सोने के उलटबधुवार को चांदी की कीमतें गिर गई है. दिल्ली में एक किलोग्राम चांदी के दाम 49,450 रुपये से गिरकर 49,340 रुपये पर आ गए. इस दौरान कीमतों में 110 रुपये की गिरावट दर्ज की गई है. इससे पहले मंगलवार को 1 किलोग्राम चांदी के दाम 48,451 रुपये से बढ़कर 49,344 रुपये हो गए. इस दौरान चांदी के दाम 893 रुपये तक बढ़ गए. वहीं, अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर चांदी की कीमतें 17.63 डॉलर प्रति औंस पर पहुंच गई.अगले कुछ दिनों में और सस्ता हो सकता है सोना- केडिया कमोडिटी के एमडी अजय केडिया ने न्यूज18 हिंदी को बताया कि अब निवेशकों का रुझान शेयर बाजार की ओर बढ़ गया है. क्योंकि सोने में अब सेफ इन्वेस्टमेंट की डिमांड कम हुई है. इसीलिए अगले कुछ दिनों में सोने में तेज मुनाफावसूली होने की संभावना है. पिछले दो साल में सोना 50% से अधिक रिटर्न दिया है. ऐसे में अब मुनाफावसूली हावी है. लोग पुराने सोने भी बेच रहे हैं क्योंकि पुराने सोने को बेचने के लिए उच्च कीमतें आकर्षक हैं.

सोने के गहने खरीदते वक्त रखें इन बातों का खास ख्याल 

(1) हर ज्वेलरी पर मेकिंग चार्ज अलग-अलग होता है. इसकी सबसे खास वजह है कि हर गहनों की बनावट और कटिंग और फिनिशिंग अलग-अलग होती है. अगर यह मानव निर्मित या मशीन निर्मित . मशीन निर्मित ज्वेलरी मानव निर्मित ज्वेलरी से सस्ती पड़ती है.

(2) मेकिंग चार्ज दो तरह से तय होते हैं या तो सोने की कीमत पर प्रतिशत या प्रति ग्राम सोने पर फ्लैट मेकिंग चार्ज. कई ज्वेलर्स ग्राहकों के मोलभाव करने पर मेकिंग चार्ज कम कर देते हैं. ऐसा इसलिए क्योंकि इसका कोई खास मानक अभी तक इंडस्ट्री में तय नहीं किया गया है.

(3) सोने की शुद्धता मापने का सबसे अहम पैमाना कैरेट होता है. कैरेट जितना ज्यादा होगा सोना उतना ही खरा होगा. ज्यादा कैरेट मतलब ज्यादा दाम. इसी तरह से कैरेट जितना कम होगा, सोना उतना ही सस्ता होगा. कई बार ज्वेलर्स सोने के गहने खरीदते वक्त ग्राहकों से 24 कैरेट के भाव वसूलते हैं.

(4) ध्यान रखें कि सोने की कोई भी ज्वेलरी 24 कैरेट में नहीं बन सकती है क्योंकि 24 कैरेट सोना काफी ठोस धातु के रूप में होता है इसलिए बिना पिघलाएं इससे गहने बनाना बहुत ही मुश्किल है.

(5) आमतौर पर गोल्ड ज्वेलरी 22 कैरेट की बनती है. इस गुणवत्ता वाले सोना की ज्वेलरी में 91.66 फीसदी सोना होता है. कई बार सोने की ज्वेलरी को मजबूत बनाने के लिए इसमें जिंक, कॉपर, और चांदी को मिलाया जाता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here