भोपाल। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में कोरोना पॉजिटिव के लगातार बढ़ते मामलों काे देखते हुए 4 से 8 दिन के लिए दोबारा टोटल लॉकडाउन किया जा सकता है। इसकी तैयारी जिला प्रशासन ने शुरू कर दी है। भोपाल में 22 मार्च से 14 अप्रैल तक कोरोना के कुल 3020 सैंपल लिए गए थे, जिनमें 168 (5.53 %) पॉजिटिव निकले थे। अनलॉक- 1 में यह 3.74 थी। लेकिन, अनलॉक- 2 में कोविड संक्रमण की दर 6.14 हो गई है। जो कोविड संक्रमण की शुरूआती स्टेज से भी ज्यादा है।

जिला प्रशासन के अधिकारियों का कहना है कि भोपाल में कोरोना की संक्रमण दर ऑल टाइम हाई हो गई है। इसे नियंत्रित करने के लिए लोगों के मूवमेंट पर रोक लगाना जरूरी होगा।

कारण दोबारा लॉकडाउन लागू करने का प्रस्ताव बनाया जा रहा है, जिसे मंजूरी के लिए डिस्ट्रिक्ट क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक में रखा जाएगा। यह बैठक अगले एक-दो दिन में होगी।

जिला प्रशासन के अफसरों के मुताबिक डिस्ट्रिक्ट क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक सोमवार शाम और मंगलवार दोपहर को होना प्रस्तावित है। सोमवार को भोपाल में कोविड के 50 से कम नए मरीज अगर मिले, तो मीटिंग मंगलवार को होगी। जबकि 50 से ज्यादा नए मरीज मिलने पर सोमवार शाम ही ग्रुप की मीटिंग कर लॉकडाउन को लेकर फैसला हो सकता है।

राजधानी में रविवार को लगे दिनभर के लॉकडाउन में सड़कों पर सन्नाटा पसरा रहा। पुलिस ने बैरिकेड्स लगाकर चैकिंग की। जिला प्रशासन के अधिकारियों के अलावा नगर निगम का अमला भी तैनात रहा। लोग घर पर रहे और लगभग सभी स्थानों पर आवाजाही थमी रही। पुलिस ने सख्ती बरतते हुए लॉकडाउन आदेश उल्लंघन के 83 केस दर्ज किए हैं। इनमें 91 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया। चैकिंग के दौरान दो आरोपियों से चोरी के वाहन बरामद हुए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here