नई दिल्लीः केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह (Union Home Minister Amit Shah) ने पश्चिमी समुद्री तट की ओर बढ़ रहे चक्रवाती तूफान के मद्देनजर गुजरात और महाराष्ट्र में की जा रही तैयारियों का सोमवार को जायजा लिया। इसके साथ ही उन्होंने दोनों राज्यों के मुख्यमंत्रियों को किसी भी परिस्थिति से निपटने के लिए हर संभव केंद्रीय मदद का भरोसा दिया। अधिकारियों ने बताया कि गृह मंत्रालय ने राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) की 31 टीमों को महाराष्ट्र, गुजरात, दमन और दीव, दादरा एवं नागर हवेली में तैनात किया है।

आधिकारिक बयान के मुताबिक गृहमंत्री ने वीडियो कांफ्रेंस के जरिये गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी, महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे, दादरा और नागर हवेली, दमन एवं दीव के प्रशासक प्रफुल्ल पटेल के साथ बैठक की और इन राज्यों की ओर बढ़ रहे तूफान से निपटने के लिए हर संभव केंद्रीय मदद का भरोसा दिया।

अमित शाह ने मुख्यमंत्रियों और प्रशासक से कहा कि वे स्थिति से निपटने के लिए अपनी जरूरतों और संसाधनों की विस्तार से जानकारी दें। इससे पहले गृहमंत्री ने गृह मंत्रालय, राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एनडीएमए), भारतीय तटरक्षक बल और अन्य विभागों के अधिकारियों के साथ बैठक की और तूफान के मद्देनजर तैयारियों का जायजा लिया।

तूफान को लेकर तैयारियों का लिया अमित शाह ने जायजा

शाह के कार्यालय ने ट्वीट किया, ”केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एनडीएमए), राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ), भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) और भारतीय तटरक्षक बल के अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की और अरब सागर में उठे तूफान के मद्देनजर तैयारियों का जायजा लिया। इस तूफान के महाराष्ट्र और गुजरात के कुछ हिस्सों में दस्तक देने की संभावना है। इस बैठक में गृह राज्यमंत्री नित्यानंद राय भी मौजूद थे।”

एनडीआरएफ की 31 टीमें तैनात

अधिकारियों ने बताया कि एनडीआरएफ की 31 टीमों में 13 टीमों को (दो रिजर्व टीमों सहित)गुजरात में, 16 टीमें (सात रिजर्व सहित) महाराष्ट्र में और दो टीमों को केंद्रशासित प्रदेश दमन और दीव, दादरा और नागर हवेली में तैनात किया गया है। एनडीआरएफ तट के निचले इलाकों में रहने वाले लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने में राज्य सरकारों की भी मदद कर रहा है। तूफान के महाराष्ट्र और गुजरात के कुछ इलाकों और दमन एवं दीव से टकराने की संभावना है।

प्रचंड चक्रवाती तूफान में हो सकता तब्दील

भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने बताया कि दक्षिण-पूर्व और उससे लगे पूर्व-मध्य अरब सागर एवं लक्षद्वीप के इलाके में बना कम दबाव का क्षेत्र चक्रवात में तब्दील हो गया है और मंगलवार को इसके मजबूत होने की संभावना है। बुधवार को इसके पूर्व-मध्य अरब सागर में चक्रवाती तूफान में तब्दील होने की संभावना है। आईएमडी के मुताबिक कम दबाव का क्षेत्र प्रचंड चक्रवाती तूफान में तब्दील होने की संभावना है और इसके तीन जून को उत्तर महाराष्ट्र और दक्षिण गुजरात के तट से गुजरने की संभावना है।

तूफानः इन इलाकों के लिए अलर्ट किया गया जारी

उल्लेखनीय है कि रायगढ़ और दमन के बीच की 260 किलोमीटर लंबी तटीय पट्टी देश में सबसे घनी बसी आबादी वाला इलाका है। इसी पट्टी पर मुंबई और उसके उपनगरीय शहर जैसे ठाणे, नवी मुंबई, पनवेल, कल्याण, डोम्बिविली, मीरा-भायंदर, वसई-विरार, उल्हासनगर, बदलापुर और अम्बेरनाथ बसे हुए हैं। इन इलाकों के लिए अलर्ट जारी कर दिया गया है। मौसम विभाग ने कहा कि जब यह तूफान तीन जून की शाम को तट से गुजरेगा तब 105 से 110 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चल सकती हैं। तूफान के प्रभाव से दक्षिण गुजरात और तटीय महाराष्ट्र में भारी बारिश होने की संभावना है। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here